छत का पंखा खरीदने से पहले यह बाते ज़रूर सोचे

छत्त के पंखे हर घर में सबसे आम बिजली के उपकरण है। वास्तव में आपको एक ही कमरे में एक से अधिक मिल जायेंगे। औसतन भारत के हर घर में 3 छत्त के पंखे होते है। भारत में जलवायु ऐसी है कि आपके घर लगभग हर समय एक ना एक पंखा काम कर रहा होगा । इसलिए किसी भी वक़्त भारत में क्रोरो पंखे काम कर रहे होंगे। ट्यूब लाइट और बल्ब के बाद घर में सीलिंग फैन ही सबसे आम इस्तेमाल होने वाली बिजली का यन्त्र है। भारत में हर घर जिनमे झुगी शामिल हैं आमतौर पर कम से कम एक छत का पंखा ज़रूर होता है। जलवायु परिस्थितियों के कारण भारत के लगभग हर प्रान्त में सीलिंग फैन एक आवश्यक उपकरण है ।आम तौर पर लोगों को लगता है कि सीलिंग फैन ज्यादा बिजली की खपत नहीं करते हैं। इसलिए, जब बिजली की बचत के उपायों को अपनाने की बात आती है तो वह माइक्रोवेव ओवन, रेफ्रिजरेटर और एयर कंडीशनर जैसे उपकरणों पर ध्यान केंद्रित करते हैं।छत के पंखे भी काफी बिजली की खपत करते सकते हैं क्योंकि वे दिन और रात कार्य करते रहते है । इसलिए ऊर्जा कुशल छत्त के पंखे को खरीदने की आवश्यकता है। लोग छत के पंखे खरीदते समय विवरण में ज्यादा नहीं जाते हैं। घर के लिए आदर्श छत का पंखा न केवल कम आवाज़ करता और कम गर्मी करता है बल्कि बिजली बचत के माध्यम से पैसे भी बचाता है।

छत के पंखे 900 मिमी से 1400 मिमी (35 से 55 इंच) के बीच विभिन्न आकारों में उपलब्ध हैं। सबसे अधिक बिकने वाला पंखे का स्वीप आकार 1200 मिमी (48 इंच) है। छत के पंखे इस रेंज के बाहर भी उपलब्ध है मगर बहुत काम दुकानों में । कमरे का आकार इन पंखे के स्वीप आकार का चयन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

कमरे का आकार पंखे का स्वीप साइज
75 वर्ग फुट से कम900 मिमी (35 – 36 इंच)
75 और 100 वर्ग फुट के बीच 1050 मिमी (41 – 42 इंच)
100 और 130 वर्ग फुट के बीच 1200 मिमी (48 इंच)
130 और 150 वर्ग फुट के बीच1400 मिमी (55 – 56 इंच)
150 वर्ग फुट से अधिकदो पंखो का उपयोग करे

आदर्श रूप से अधिकतम क्षेत्र को कवर करने के लिए पंखा कमरे के केंद्र में होना चाहिए। यदि आपके पास घर में बड़े कमरे हैं, तो आपको उचित वायु परिसंचरण सुनिश्चित करने के लिए तदनुसार पंखे के स्थान को समायोजित करना चाहिए।

मोटर छत वाले पंखे की दिल और आत्मा है। आम तौर पर, मोटर्स के दो प्रकार होते हैं।

ऐ सी मोटर्स के लिए स्थायी कैपेसिटर की जरूरत होती है। आम तोर पे मिलने वाली सिंगल फेज इंडक्शन मोटर भारत में सबसे ज्यादा फैन में बिकती है । यह मोटर पंखे के रोटरों को सिंगल-फेज वोल्टेज की आपूर्ति के लिए कई तारों और घुमावदार खंभों का उपयोग करती है। यह काफी सस्ती और पुरानी प्रणाली है।

वही बीएलडीसी मोटर्स जो की नई पणाली काफी कुशल हैं क्योंकि वे निरंतर गति से घूमते हैं। दूसरी ये मोटर्स ट्रेडिशनल सिंगल फेज इंडक्शन मोटर्स जितना शोर नहीं मचाते हैं।सबसे महत्वपूर्ण बातBLDC मोटर्स वाले पंखे कम बिजली की खपत करते हुए अधिक कुशलता से काम करते है । हालाँकि तुलनात्मक रूप से ये महंगे होते है मगर बिजली की बचत से अपनी लगत 1-2 साल में निकल लेते है।

Leave a Reply